22 February 2019



प्रादेशिक
उपलब्धि के आधार पर जीतेंगे चुनाव: आडवाणी
26-09-2013
पूर्व प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि यह तय करने में काफी वक्त लग गया कि मंच से पहले कौन बोलेगा और बाद में कौन।

उन्होंने कहा मैं कहना चाहता हूं कुछ कार्यक्रमों में भाषणों का महत्व नहीं होता है बल्कि इसमें उपस्थित लोगों का अधिक महत्व होता है। आडवाणी ने कहा कि भाजपा भाषणों के आधार पर नहीं बल्कि परिश्रम और तपस्या के कारण केन्द्र तक पहुंचे हैं। आगामी चुनाव हम अपनी उपलब्धियों के आधार पर जीतेंगे।

आडवाणी ने कहा मध्यप्रदेश में 2008 में भी कार्यकर्ता महाकुंभ किया गया था। उस वक्त दो लाख से ज्यादा कार्यकर्ता शामिल हुए थे लेकिन प्रदेशाध्यक्ष नरेन्द्र सिंह तोमर ने स्वागत भाषषण में बताया कि 53 हजार मतदान केन्द्रों के कार्यकर्ता महाकुंभ में आए हैं। इस पर मेंने शिवराज से पूछे केन्द्रों की यह संख्या कुछ ज्यादा नहीं है तो शिवराज ने बताया कि मतदान केन्द्रों की संख्या 53 हजार 714 केन्द्रों से कार्यकर्ता आए हैं। आडवाणी ने कहा कि आने वाले चुनाव में भाजपा और एनडीए अपने ट्रेक रिकार्ड के आधार पर विपक्षी दलों को करारी मात देगी।

पहले मोदी बाद में शिवराज

आडवाणी ने कहा कि देश में गुजरात पहला ऐसा राज्य है जहां नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गांव-गांव में बिजली पहुंची है। इसके बाद मध्यप्रदेश में शिवराज के नेतृत्व में 24 घंटे बिजली देने का काम हुआ है। छत्तीसग़़ढ के मुख्यमंत्री रमन सिंह भी इस दिशा में बेहतर काम कर रहे हैं। कांग्रेस एवं अन्य पार्टी शासित राज्यों में 24 घंटे बिजली नहीं मिल रही है। वहां छात्र अंधेरे में पढ़ रहे हैं तो किसान बिजली न मिलने से सिंचाई तक नहीं कर पा रहे हैं।

शिवराज सीएम तो 14 में मोदी पीएम: राजनाथ

भोपाल [ब्यूरो]। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने लाखों कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि जल्द ही होने वाले विधानसभा चुनाव में यदि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हैट्रिक हासिल करेंगे तो 2014 में नरेन्द्र मोदी को भारत का प्रधानमंत्री बनने से कोई ताकत नहीं रोक सकती है। राजनाथ ने अपने भाषण में केन्द्र की यूपीए सरकार पर भ्रष्टाचार और महंगाई ब़़ढाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यूपीए की अक्षमता के चलते देश की आंतरिक और बाह्य सुरक्षा गंभीर परिस्थितियों से गुजर रही है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए राजनाथ ने कहा कि राजा को शासक की नहीं बल्कि सेवक की भूमिका निभानी चाहिए। सीएम के रूप में चौहान ने शासक नहीं बल्कि जनता के सेवक की भूमिका निभाई है। प्रदेश की तमाम योजनाओं की भी उन्होंने तारीफ की। सिंह ने कहा कि कभी कोई कल्पना नहीं कर सकता था कि कोई मुख्यमंत्री गांव, गरीब और बुजुर्गो की चिंता कर सकता है पर चौहान ने न सिर्फ बुजुर्गो को पेंशन दी बल्कि तीर्थ यात्रा भी कराई। पंडित दीनदयल उपाध्याय की मंशा के अनुरूप ही शिवराज ने अपनी सरकार चलाई।

उन्होंने पंडित उपाध्याय को राजनीति का विक्रमादित्य बताया। राजनाथ ने कहा भाजपा अब कांग्रेस के समकक्ष नहीं बल्कि उससे ब़़डी पार्टी हो गई है। एनडीए सरकार के छह सालों का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि एनडीए के मंत्रियों पर कभी कोई भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगे। सन 1998 से 2004 के बीच एनडीए ने 6 करो़़ड 70 लाख रोजगार के नए अवसर दिए जबकि यूपीए ने उसके बाद से अब तक मात्र 27 हजार रोजगार के मौके मुहैया कराए।

दिग्विजय पर निशाना

राजनाथ सिंह ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का नाम न लेते हुए उन पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बम ब्लास्ट के आरोप में गिरफ्तार भावेश कुमार पर इन्हीं कांग्रेस के नेता ने दवाब डाला था कि वे आरएसएस के दिग्गज मोहन भागवत और अन्य लोगों का नाम भी ब्लास्ट की साजिश में लपेटें। अब भावेश के ताजा बयान ने सारा खुलासा कर दिया कि उसने जो भी पहले बोला वह कांग्रेस नेताओं के दवाब में बोला था।