15 February 2019



राष्ट्रीय
बारामूला-श्रीनगर हाईवे पर गश्ती दल पर आतंकी हमले में एक घायल
28-09-2013
न्यूयॉर्क में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की वार्ता से 24 घंटे पहले तक जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले और उनकी मौजूदगी को लेकर सनसनी व्याप्त रही। श्रीनगर के नजदीक हैदरपोरा इलाके में जहां सेना के काफिले पर हमला हुआ, वहीं कठुआ के हीरानगर-दयालचक इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की जानकारी मिली। आतंकियों की तलाश में सुरक्षा बलों का अभियान जारी है। अभी तक कोई सफलता उनके हाथ नहीं लगी है।

सेना और पुलिस पर आतंकी हमला

श्रीनगर में लालचौक से करीब 10 किलोमीटर दूर श्रीनगर-बारामुला राष्ट्रीय राजमार्ग पर हैदरपोरा के नजदीक आतंकियों ने सुरक्षा बलों के गश्ती दल पर घात लगाकर हमला किया। सतर्क जवानों ने तुरंत पोजीशन लेकर जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। करीब पांच मिनट तक हुई गोलीबारी के बाद आतंकी भाग खड़े हुए। गोलीबारी की चपेट में आकर नजदीक ही स्थित कार शोरूम का कर्मचारी घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अतिरिक्त सुरक्षा बलों ने मौके पर पहुंचकर इलाके को घेर लिया और तलाशी शुरू कर दी।

कठुआ जिले के उसी हीरानगर इलाके में शनिवार प्रात: ग्रामीणों ने कुछ संदिग्ध लोगों के देखने की जानकारी सुरक्षा बलों को दी, जहां गुरुवार को थाने पर हमले में चार पुलिसकर्मियों समेत छह लोगों की मौत हुई थी। बाद में सेना की वर्दी पहने इन्हीं आतंकियों ने सांबा में सैन्य शिविर पर हमला करके चार सैन्यकर्मियों की भी हत्या कर दी थी।

बाद में इन आतंकियों को घेरकर मार डाला गया था। शनिवार को देखे गए संदिग्ध भी सेना की वर्दी में थे और उन्होंने भारी सामान वाले बैग ले रखे थे। इस सूचना के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके में तलाशी अभियान छेड़ दिया। इस दौरान जम्मू-पठानकोट राष्ट्रीय राजमार्ग पर आवागमन रोक दिया गया और इलाके में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया। देर शाम तक उन्हें किसी संदिग्ध को पकड़ने में सफलता हाथ नहीं लगी।

जंगल से हथियार बरामदकश्मीर के बांडीपोरा जिले के जंगल में पुलिस व सेना के संयुक्त दल ने शनिवार को आतंकी ठिकाना ध्वस्त कर भारी मात्रा में हथियार बरामद किए।

पुलिस को सूचना मिली थी कि जिले के कुदारा जंगल में आतंकियों ने हथियारों की एक खेप छिपा कर रखी है और वह इसका इस्तेमाल किसी बड़ी वारदात में करने वाले हैं।

सूचना के आधार पर पुलिस व 14 राष्ट्रीय राइफल्स के संयुक्त दल ने पेड़ों के झुरमुठ के बीच बनाई गई सुरंग से दो एके 47 राइफल, पांच मैगजीन, एक रॉकेट लांचर, दो सौ कारतूस, दो वायरलेस सेट, एक पिस्टल तथा छह हथगोले बरामद किए।