16 February 2019



खेलकूद
हार के साथ उपलब्धियां भी हैं भारतीय टीम के नाम
02-04-2012
वीरू का दोहरा शतकवीरेंद्र सहवाग ने इंदौर वनडे में वेस्टइंडीज के खिलाफ 219 रन बनाकर सचिन तेंडुलकर के 200 नाबाद रनों का रिकॉर्ड तोड़ा। सचिन ने ग्वालियर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कीर्तिमान रचा था।सचिन का महाशतकआखिर 33 पारियों के बाद सचिन तेंडुलकर का 100वां शतक बना। 12 मार्च 2011 को द.अफ्रीका के खिलाफ वर्ल्ड कप मैच में शतक बनाने के बाद से वे साल भर महाशतक के लिए प्रयासरत रहे। अंतत: एशिया कप में बांग्लादेश के खिलाफ 114 रन बना कर इतिहास पुरुष बन गए।द्रविड़ के पांच शतक2011 में राहुल द्रविड़ ने पांच शतक लगाए। उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ दो (112,119) और इंग्लैंड के खिलाफ तीन शतक (103,117,146) लगाए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट की आठ पारियों में से छह बार बोल्ड होने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया।कोहली का विराट प्रदर्शन साल भर में टेस्ट, वनडे व टी20 में 2213 रन बनाए। टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में 116 बनाए। वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ 107 व 112*, श्रीलंका के खिलाफ 133, 108, इंडीज के खिलाफ 117 रन बनाए। पाक के खिलाफ एशिया कप में 183 रन की यादगार पारी खेली। इस पारी की मदद से भारत ने रिकॉर्ड जीत दर्ज की।