21 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
कनाडा में सिख रक्षा मंत्री पर संसद में नस्ली टिप्पणी
05-02-2016
टोरंटो। कनाडा के पहले सिख रक्षा मंत्री पर संसद में नस्ली टिप्पणी की गई है। विपक्षी कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद जैसन केनी ने हरजीत सज्जन पर प्रतिनिधि सभा में आइएस के खिलाफ कनाडा के अभियान के बारे में जानकारी देने के दौरान अभद्र टिप्पणी की। सत्ता पक्ष ने विपक्षी नेता से माफी की मांग की जिसे उन्होंने खारिज कर दिया। प्रश्नकाल के दौरान केनी ने सज्जन पर न केवल आपत्तिजनक टिप्पणी की, बल्कि उनके संबोधन को भी बाधित किया। विपक्षी नेता ने कहा कि सांसदों को सज्जन के जवाब को समझने के लिए अंग्रेजी से अंग्रेजी में अनुवाद की जरूरत है। सत्तारूढ़ पक्ष के नेताओं ने केनी की इस टिप्पणी को नस्ली करार दिया। प्रश्नकाल के बाद लिबरल नेता केविन लेमोरेक्स ने इस मामले को उठाते हुए केनी को रक्षा मंत्री से संसद में माफी मांगने की मांग की। बकौल केविन उन्हें आश्चर्य होगा यदि केनी इसके लिए माफी मांगे या कम से कम अपने बयान को लोगों को समझाएं। भारतीय मूल की लिबरल सांसद रुबी सहोटा ने केनी द्वारा माफी नहीं मांगने के रुख को अस्वीकार्य और शर्मिदा करने वाला बताया। भारतीय मूल के एक अन्य सांसद राज ग्रेवाल ने भी इसकी कड़ी आलोचना की प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडेयू ने पिछले साल नवंबर में हरजीत सज्जन को रक्षा मंत्री नियुक्त किया था। सैन्य अधिकारी के रूप में सज्जन बोस्निया और अफगानिस्तान जैसे देशों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।