16 February 2019



राष्ट्रीय
सिंहस्थ आयोजन ने पूरी दुनिया पर छाप छोड़ी
12-02-2017

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सिंहस्थ 2016 के आयोजन की छाप पूरी दुनिया में है। उसकी सर्वत्र सराहना होती है। इसका पूरा श्रेय राजनैतिक नेतृत्व से लेकर छोटे-बड़े सभी अधिकारी, कर्मचारियों को है। जिसे जो भी काम सौंपा गया, उसने पूरी क्षमता और दक्षता से बेहतर से बेहतर परिणाम दिया। उन्होंने कहा कि सिंहस्थ 2016 का आयोजन अदभुत था। इसमें अनुमानित 5 करोड़ श्रद्धालुओं की तुलना में 8 करोड़ श्रद्धालु शामिल हुए। आयोजन की व्यवस्थाएँ अदभुत और उत्कृष्ट रहीं। उन्होंने आयोजन की विभिन्न चुनौतियों का उल्लेख किया। आयोजन की सफलता का कारण बताते हुए कहा कि ऐसा इसलिये हुआ, क्योंकि टीम के हर सदस्य ने उत्कृष्ट कार्य किया। उन्होंने प्राकृतिक आपदा की घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि जितनी तेजी से व्यवस्थाओं को सुचारू बनाया गया, वह अदभुत था। उज्जैन में बुनियादी सुविधाओं का जो ढाँचा खड़ा किया गया, वह अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा कि अच्छे कार्यों की सामाजिक स्वीकार्यता जरूरी है। सरकार के इसी भाव को प्रतिबिंबित करने के लिये इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।