21 February 2019



प्रमुख समाचार
स्वाईन फ्लू इलाज के लिये चिन्हित 65 निजी अस्पताल
26-08-2017


राज्य शासन द्वारा स्वाईन फ्लू से निपटने के लिए सभी जिला चिकित्सालयों, चिकित्सा महाविद्यालयों और 65 चिन्हित निजी चिकित्सालयों में पर्याप्त मात्रा में औषधि उपलब्ध करा दी गई है। इनमें आइसोलेशन वार्ड, वेन्टिलेटर, दवाईयाँ, पी.पी.ई. किट, त्रिपल लेयर मास्क, एन-95 मास्क आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। सभी शासकीय चिकित्सालयों में स्वाईन फ्लू स्क्रीनिंग की सुविधा मौजूद है। चिकित्सालयों को निर्देश दिये गये हैं कि जिन रोगियों में संक्रमण की वृद्धि प्रतीत हो रही है उनका निर्धारित उपचार संक्रमण प्रारंभ होने से 48 घंटे के भीतर शुरु करें। वर्तमान में 17 शासकीय और 26 निजी अस्पताल में एच1 एन1 के मरीज उपचाररत हैं।

भोपाल में चिन्हित है 25 निजी अस्पताल

भोपाल जिले में एच1,एन1 संक्रमण उपचार जिन 25 निजी अस्पताल में सौ-फीसदी सुविधा है, उनमें- ए.के.हास्पिटल.अग्रवाल हास्पिटल.अक्षय हास्पिटल. आराधनना हास्पिटल,बंसल हास्पिटल,भोपाल केयर हास्पिटल,चिरायु हास्पिटल, सिटी हास्पिटल, सी.एम.सी.एच. हास्पिटल (चिकित्सा महाविद्यालय), हजेला हास्पिटल, जे.के.हास्पिटल (चिकित्सा महाविद्यालय), लाहोटी हास्पिटल, एल.बी.एस. हास्पिटल, मिरेकल हास्पिटल, नर्मदा हास्पिटल, नेशनल हास्पिटल, पालीवाल हास्पिटल, पारुल हास्पिटल, पी.सी.एम.एस. हास्पिटल (चिकित्सा महाविद्यालय), पीलुल्स हाईटेक हास्पिटल, रेनबो हास्पिटल, रेडक्रास हास्पिटल, शारदा हास्पिटल, सिल्वर लाईन हास्पिटल और तृप्ति हास्पिटल शामिल हैं।

इंदौर में चिन्हित हैं 18 निजी अस्पताल

अरविन्दो हॉस्पिटल, बाम्बे हॉस्पिटल, सीएचएल हॉस्पिटल, विशेष हॉस्पिटल, अपोलो हॉस्पिटल, भण्डारी हॉस्पिटल, अरिहंत हॉस्पिटल, गोकुलदास हॉस्पिटल, इण्डेक्स हॉस्पिटल, लाइफ केयर हॉस्पिटल, ग्लोबस हॉस्पिटल, सुयश हॉस्पिटल, मेदांता हॉस्पिटल, मयूर हॉस्पिटल, अपर्णा हॉस्पिटल, चौईथराम हॉस्पिटल, ग्रेटर कैलाश हॉस्पिटल और सेनर्जी हॉस्पिटल।

उज्जैन, होशंगाबाद, जबलपुर जिले के निजी अस्पताल

उज्जैन में आर.डी. गार्डी मेडिकल कॉलेज, जी.डी. बिरला अस्पताल, संजीवनी हॉस्पिटल, पाटीदार हॉस्पिटल, सीएचएल हॉस्पिटल और एस.एस. हॉस्पिटल। होशंगाबाद में न्यू पाण्डे हॉस्पिटल, केशव हॉस्पिटल, नर्मदा अपना हॉस्पिटल और सेंट जोसेफ हॉस्पिटल। जबलपुर जिले में जबलपुर रिसर्च हॉस्पिटल, सिटी हॉस्पिटल, नेशनल हॉस्पिटल, महाकौशल हॉस्पिटल और मेट्रो हॉस्पिटल।

ग्वालियर, बैतूल, रीवा और सागर के चिन्हित अस्पताल

ग्वालियर का बिड़ला हॉस्पिटल, बैतूल में संजीवनी हॉस्पिटल, पढार हॉस्पिटल और रथी हॉस्पिटल। रीवा में विंध्य हॉस्पिटल और चिरायु हॉस्पिटल। सागर में सागरश्री हॉस्पिटल में स्वाइन फ्लू से निपटने के लिये सभी जरूरी सुविधाएँ मौजूद हैं।

एच-1 एन-1 संक्रमण के लक्षणों को नजरअंदाज न करें

लोक स्वास्थ्य मंत्री श्री रुस्तम सिंह ने लोगों से अपील की है कि वे एच-1 एन-1 के प्रारंभिक लक्षण जैसे सर्दी-जुखाम, खाँसी, गले में खराश, सिर दर्द, बुखार के साथ सांस लेने में तकलीफ को कतई नजरअंदाज न करें। तत्काल चिकित्सक से परामर्श लें।