16 February 2019



खेलकूद
गंभीर ने दिखाया गंभीर रूप
03-04-2012
मुंबई. गौतम गंभीर ने हालिया विदेशी टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया के बल्लेबाजों के कमजोर प्रदर्शन का कारण तकनीक और रणनीति की कमी को बताया है। गंभीर ने माना कि टेस्ट क्रिकेट में इसी कारण भारतीय बल्लेबाज पिछड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीसीसीआई को अंडर-19 खिलाडिय़ों को अधिक से अधिक विदेशी दौरों पर भेजना चाहिए, जिससे वे विदेशी धरती के अनुकूल खुद को ढालने और वहां अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम बन सकें।   गंभीर ने कहा, 'मुझे लगता है कि भारतीय क्रिकेट में सुधार के लिए जरूरी है कि गलतियों से सीखा जाए और उन पर अधिक ध्यान दिया जाए। युवा खिलाडिय़ों को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसे देशों में अधिक खेलने का मौका दिया जाए, ताकि वे खुद को वहां तैयार कर सकें। जब वे इन देशों के उछाल वाले पिचों पर खेलेंगे, तो उनके खेल में और सुधार आएगा। गौतम ने कहा, 'मैं मानता हूं कि टेस्ट क्रिकेट के लिए शरीर और दिमाग के बीच संतुलन बेहद जरूरी होता है। इस प्रारूप में सुधार के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि युवाओं को टेस्ट के लिए भी तैयार किया जाए। मुझे लगता है कि जब ये खिलाड़ी मुश्किल स्थितियों में खेलने के लिए सक्षम हो जाएंगे, तब हम टेस्ट टीम में बेहतरीन खिलाडिय़ों की खाली जगह को भर पाएंगे।'