18 February 2019



खेलकूद
मुंबई के हीरो रहे रोहित
10-04-2012

विशाखापत्तनम। अंतिम छह गेंदों पर 18 रन की दरकार। जेम्स फ्रेंकलिन [नाबाद 07] स्ट्राइक और रोहित शर्मा [नाबाद 59] नॉन स्ट्राइक एंड पर। डेनियल क्रिश्चियन के हाथ में गेंद। दर्शक दीर्घा में शोर शबाब पर। मेजबान डेक्कन चार्जर्स की जीत की उम्मीद का शोर। मुंबई इंडियंस के खेमें में उतना ही सन्नाटा। मालकिन नीता अंबानी के चेहरे का नूर भी उस सन्नाटे में खोता सा, सोता सा। क्रिश्चियन की पहली गेंद। फ्रेंकलिन ने चौका दे मारा। सन्नाटा अब लेवल पर आ गया। क्या होगा? किसी को नहीं पता। अगली गेंद। ऑफ स्टंप की ओर जाती। फ्रेंकलिन ने लांग ऑफ की ओर मोड़ दी। डीप पर फील्ड होकर रिटर्न होने तक दो रन। अब चार गेंद में 12 चाहिए। डेक्कन के फील्डर्स जान झोंक देने को आमादा। क्रिश्चियन की तीसरी गेंद। फ्रेंकलिन को चकमा देती विकेट के पीछे पार्थिव के दस्तानों में जा पहुंची। फ्रेंकलिन एक रन के लिए दौड़ पड़े। पार्थिव ने रन आउट का मौका गंवाया। अब रोहित स्ट्राइक पर। तीन गेंद बाकी। मुंबई को 11 की दरकार। बाजी डेक्कन की ओर जाती। चौके-छक्के से नीचे मुंबई का काम नहीं बनने वाला। चौथी गेंद। ऑफ साइड की ओर जाती। फुलटॉस। रोहित ने बैट के छोर से उछाल दी। हवा में उड़ती। बाउंड्री के बाहर छह रन के लिए। सांसे थम गईं। दो पर पांच की दरकार। पांचवीं। ऑफ स्टंप के बाहर जाती। रोहित ने लांग ऑफ की ओर लपेट दी। फील्ड हुई। दो रन। अब लास्ट बॉल थ्रिलर। अंतिम गेंद। तीन की दरकार। क्रिश्चियन के सामने फिर रोहित। फिर फुलटॉस। और शानदार छक्का। चार्जर्स फ्यूज और नीता-भज्जी की बल्ले-बल्ले। ..इस तरह मुंबई इंडियंस ने पांच विकेट से बाजी मार ली। अब तक खेले गए तीन मुकाबलों में यह उसकी दूसरी जीत है। चार्जर्स की लगातार दूसरी हार। मुनाफ-मलिंगा ने बरपाया कहर : इससे पहले मुनाफ पटेल और लसित मलिंगा ने मुंबई के लिए धमाकेदार गेंदबाजी की। टॉस जीतने वाले चार्जर्स उनके आगे नौ विकेट पर 138 रन से आगे नहीं बढ़ सके। मुनाफ ने 20 रन देकर चार, जबकि मलिंगा ने 27 रन देकर तीन विकेट उड़ाए। कीरोन पोलार्ड ने 33 रन देकर दो। सलामी बल्लेबाज पार्थिव पटेल [01] और भरत चिपली [01] आए और चलते बने। डेक्कन की ओर से शिखर धवन ने 24 गेंद में दो चौकों और चार छक्कों की मदद से सर्वाधिक 41 रन की पारी खेली। डेनियल क्रिश्चियन [39] ने मध्यक्रम को संभाला और धवन के साथ 37 रन जोड़ने के अलावा कप्तान कुमार संगकारा [14] और कैमरून व्हाइट [नाबाद 30] के साथ क्रमश: 36 और 41 रन की साझेदारी करके टीम को सम्माजनक स्कोर तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। थोड़ा ड्रामा भी : संगकारा जब मुनाफ की गेंद पर बोल्ड हुए, तो कुछ देर ड्रामा भी हुआ। गेंद संगकारा के बल्ले का किनारा लेकर ऑफ स्टंप से टकराई और बेल्स उड़ गईं। इसके तुरंत बाद गेंद विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के पैड से टकराकर दोबारा विकेट में समा गई। मैदानी अंपायरों को लगा कि गेंद कार्तिक के पैड से टकराकर विकेट पर लगी है और उन्होंने संगकारा को नॉट आउट दे दिया, लेकिन मुनाफ और हरभजन के विरोध करने पर उन्होंने तीसरे अंपायर से सलाह ली और संगकारा को आउट करार दिया। मुंबई के हीरो रहे रोहित : रोहित ने 50 गेंदों में 73 रनों की नाबाद और मैच जिताऊ पारी खेली। चार चौके और पांच छक्के लगाए। रोहित के अलावा पोलार्ड ने 18 गेंदों पर तीन छक्कों की मदद से 24 रन बनाए। रायुडु ने 24 गेंदों पर 19 रन, सुमन ने पांच और रिचर्ड लेवी ने तीन रन बनाए। दिनेश कार्तिक और फ्रेंकलिन ने सा-सात रन बनाए। चार्जर्स के मुख्य तेज गेंदबाज डेल स्टेन ने मुंबई की टांग तोड़ने में कोई कमी नहीं छोड़ी थी। उन्होंने 12 रन देकर तीन विकेट चटकाए। क्रिश्चियन और मिश्रा को 1-1 विकेट मिला।