18 February 2019



खेलकूद
युवराज सिंह ने आज मीडिया से मुखातिब हुए यह कहा …
11-04-2012
नई दिल्ली. कैंसर का इलाज कराने के बाद देश लौटे टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह आज गुड़गांव में मीडिया से मुखातिब हुए। युवराज सिंह ने अपनी तबियत के बारे में बताया, 'कैंसर खत्म हो चुका है लेकिन अभी घाव भर रहा है।' युवराज सिंह ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि उनका क्रिकेट भविष्य अनिश्चित है। लेकिन मैं वापसी की पूरी कोशिश करूंगा। युवी ने साफ किया कि भारत के लिए दोबारा खेलना उनके लिए सबसे बड़ी उपलब्धि होगी। इस मौके पर युवराज ने अपने दिल की बातें साझा करते हुए कहा, 'वर्ल्ड कप के दौरान मुझे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। खुशकिस्मत था कि कैंसर का जल्दी पता चला। किसी को नहीं बताया था कि मुझे तकलीफ है। बीमारी का पता लगने में छह महीने लग गए। मैं खुश रहने के लिए खुद से अच्छी बातें करता था। फिलहाल मैं खुश हूं और राहत महसूस कर रहा हूं। बीमारी के दौरान जब भी मैच देखता था तो मुझे दुख होता था। अपने अनुभवों पर एक किताब लिख रहा हूं। इसके साथ ही भगवान, गुरुजी और शुभचिंतकों का आभारी हूं। मुझे नील आर्मस्ट्रॉन्ग से बहुत प्रेरणा मिली है।' युवराज सिंह ने यह भी बताया कि कैंसर से जूझते हुए उन्होंने अपना वक्त कैसे बिताया। उन्होंने कहा कि इस दौरान मेरी मां ने मुझे खाना बनाना सिखाया। युवराज सिंह पिछले साल वर्ल्ड कप में 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' चुने गए थे। युवराज ने कहा कि जब सचिन ने अपना 100 वां शतक पूरा किया तो वे टीम का हिस्सा बनना चाहते थे। युवी ने कहा कि उन्हें इस बात की बहुत खुशी है कि सचिन ने 100 शतक बना लिए हैं। वहीं, अपनी नामौजूदगी में पुणे वॉरियर्स की कप्तानी कर रहे सौरव गांगुली पर युवी ने कहा कि वे बढ़िया खेल रहे हैं। बायें हाथ के बल्लेबाज ने यह भी कहा कि आईपीएल न खेल पाने का उन्हें अफसोस भी है। युवराज सोमवार को लंदन से दिल्ली पहुंचे थे। इस साल 26 जनवरी को फेफड़े के कैंसर का इलाज कराने के लिए युवराज अमेरिका गए थे, जहां उनकी तीन बार कीमोथेरेपी की गई। इलाज कराने के बाद युवी कुछ दिन लंदन में भी रहे, जहां बॉलीवुड और क्रिकेट की दुनिया के सितारे उनसे मिलने पहुंचे थे