18 February 2019



खेलकूद
पंजाब किंग्स ने प्रीति को दिया जीत को तोफा
13-04-2012

मोहाली। तेज गेंदबाज दमित्री मैस्करहेंस [5/25] की घातक गेंदबाजी और शान मार्श [नाबाद 64] की धैर्यपूर्ण पारी की बदौलत पंजाब किंग्स इलेवन ने आईपीएल में लगातार दो मैच गंवाने के बाद टूर्नामेंट के 14वें मुकाबले में पुणे वारियर्स को सात विकेट से हराकर अपनी जीत का खाता खोल लिया। पीसीए स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में पुणे वारियर्स की टीम पूरे 20 ओवर भी नहीं खेल सकी और 19 ओवर में 115 रन बनाकर आउट हो गई। पुणे की तरफ से मिथुन मन्हास ने सर्वाधिक 31 रन [28 गेंद, 3 चौका व 1 छक्का] बनाए। जवाब में पंजाब ने 17.4 ओवर में तीन विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। पंजाब की तरफ से मार्श ने अपनी अविजित अर्धशतकीय पारी में 54 गेंदों में सात चौका व एक छक्का लगाया। पुणे इस सीजन में अपने दोनों मैच जीतकर अब तक अजेय बना हुआ था लेकिन आज उसे पंजाब के हाथों हार का सामना करना पड़ा। वहीं इस जीत के साथ ही पंजाब ने इस सत्र में पहले मुकाबले में सौरव गांगुली की टीम से मिले हार का बदला चुकता कर लिया। पंजाब के खाता खोलने के बाद अब डक्कन चार्जर्स ही ऐसी टीम है जिसने खाता नहीं खोला है। आसान लक्ष्य का पीछा करने उतरे पंजाब को पहले ही गेंद पर पहला झटका लगा जब पाल वाल्थी अशोक डिंडा की शानदार गेंद पर बोल्ड हो गए। डिंडा ने इसके बाद भी कसी हुई गेंदबाजी की और बल्लेबाजों पर अंकुश बनाए रखा। लेकिन छोटे लक्ष्य का पीछा कर रहे पंजाब टीम के कप्तान एडम गिलक्रिस्ट और शान मार्श ने दूसरे विकेट के लिए आठ ओवर में 50 रनों की साझेदारी निभाई। एंजेलो मैथ्यूज ने आठवें ओवर की अंतिम गेंद पर गिलक्रिस्ट को 21 रन के निजी स्कोर पर स्टीवन स्मिथ के हाथों कैच आउट करा दिया। इसके बाद मार्श ने मंदीप सिंह [10] के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन थोड़ी देर बाद मंदीप राहुल शर्मा की गेंद पर स्मिथ को कैच दे बैठे। आक्रामक बल्लेबाज डेविड हसी की जगह बल्लेबाजी के लिए पीयूष चावला [नाबाद 21] को ऊपर भेजा गया। आज के मैच में पुणे का क्षेत्ररक्षण काफी कमजोर रहे और आसान रन आउट का मौका गंवाने के कुछ कैच भी टपकाए। लंबे समय से खराब फार्म से गुजर रहे मार्श ने वापसी करते हुए आज अपना पचासा जमाया। वहीं चावला ने भी कुछ अच्छे शाट खेले और तीन चौके लगाए। इससे पूर्व पुणे को पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद सलामी बल्लेबाजों ने धीमी शुरुआत दिलाई। लेकिन तीसरे ओवर की दूसरी गेंद पर ओपनर जेसी राइडर [7] रन आउट हो गए। इसके बाद कप्तान सौरव गांगुली [16] भी तीन चौका लगाने के बाद दमित्री मैस्करहेंस की गेंद पर शान मार्श को कैच थमाकर चलते बने। मैस्करहेंस ने इसी ओवर में कैरेबियाई बल्लेबाज मार्लोन सैमुअल्स [2] को बोल्ड कर अपनी दूसरी सफलता हासिल की। श्रीलंकाई आलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज [11] भी जल्द पवेलियन लौट गए। मैथ्यूज तेज गेंदबाज हरमीत सिंह की गेंद पर पगबाधा हुए। मैस्करहेंस ने राबिन उथप्पा को 17 रन के निजी स्कोर पर कैच आउट कराया। हरमीत ने मनीष पांडे को खाता खोले बगैर ही पवेलियन लौटा दिया। हरमीत की यह दूसरी सफलता थी। मैस्करहेंस ने राहुल शर्मा [2] को आउट कर अपने पांच विकेट पूरे किए। इस सत्र में चेन्नई के रविंद्र जडेजा के बाद पांच विकेट लेने वाले मैस्करहेंस दूसरे गेंदबाज हैं।