18 February 2019



खेलकूद
विराट कोहली बने हार के गुनाहगार
13-04-2012

चेन्नई. एक खिलाड़ी के लिए इससे बुरी बात शायद और कोई नहीं हो सकती कि वो अच्छा भी खेले और टीम हार जाए। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के स्टार ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने टीम की हार का ठीकरा विराट कोहली पर फोड़ा है।गुरुवार को चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ हुए मुकाबले में बेंगलुरु को पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा। बेंगलुरु की टीम 205 रन का विशाल स्कोर बनाने के बावजूद हार गई। टीम के स्टार स्पिनर मुरलीधरन ने इसका जिम्मेदार विराट कोहली के एक ओवर को ठहराया है।कोहली ने आरसीबी के लिए 5 चौकों व 2 छक्कों से सजी बेहतरीन 57 रन की पारी खेली। लेकिन उनके एक ओवर ने इस मेहनत पर पानी फेर दिया।बेंगलुरु के कप्तान डेनियल वेटोरी ने चेन्नई के खिलाफ 19वां ओवर डालने की जिम्मेदारी विराट को सौंपी थी। 18वें ओवर की समाप्ति तक चेन्नई को 12 गेंदों में 43 रन की दरकार थी। लेकिन 19वां ओवर खत्म होने तक यह अंतर 6 गेंदों में 15 रन का हो गया।कोहली ने अपने इस ओवर में जमकर रन लुटाए। एल्बी मॉर्केल ने विराट की ढीली गेंदबाजी का फायदा उठाते हुए उस ओवर में दो चौके व तीन छक्के लगाए। महज 6 गेंदों में कोहली ने 28 रन दे डाले।कोहली का यह महंगा ओवर पूरी टीम पर भारी पड़ा। अंतिम ओवर में विनय कुमार ने भी कोहली की ही तरह दिशाहीन गेंदबाजी कर मैच चेन्नई को तोहफे में दे दिया।मैच में महज 21 रन देकर तीन विकेट झटकने वाले मुरलीधरन ने हार के बाद कहा, "मुझे लगता है कि यदि हमने राजू भटकल को गेंद दी होती, तो हम नहीं हारते। शायद यह उनका पहला मैच था इसलिए उन्हें आजमाया नहीं गया। वो पहले ही दो ओवरों में 35 रन दे चुके थे। यदि 19वें ओवर में हमने 20 रन भी दिए होते तो हम जीत जाते। लेकिन उस ओवर में 28 रन पड़ गए। यहीं मैच पूरा पलट गया।"