19 February 2019



खेलकूद
रोमांचक मैच में पंजाब ने कोलकाता को हराया
16-04-2012

कोलकाता। बल्लेबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद पीयूष चावला [3/18] की अगुवाई में कसी हुई गेंदबाजी की बदौलत किंग्स इलेवन पंजाब ने आईपीएल-पांच के 17वें मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स को अंतिम गेंद तक खींचे मैच में दो रन से हरा दिया। पंजाब की टूर्नामेंट में यह लगातार दूसरी जीत है। इडेन गार्डस में हुए मुकाबले में फिरकी गेंदबाज सुनील नारायन [5/19] की शानदार गेंदबाजी के बावजूद पंजाब 20 ओवर में नौ विकेट पर 134 रन बनाने में सफल रहा। पंजाब के लिए मंदीप सिंह [38] और डेविड हसी [32] ने उपयोगी पारी खेली। जवाब में कोलकाता 20 ओवर में सात विकेट पर 132 रन ही बना सका। कोलकाता के लिए देवब्रत दास ने 23 गेंदों में तीन चौके व एक छक्के के साथ नाबाद 35 रनों की पारी खेली। जबकि मनविंदर बिसला [27] और गौतम गंभीर [22] ने रनों का योगदान दिया। चावला के अलावा भार्गव भट ने दो विकेट निकाले। कोलकता के फिरकी गेंदबाज नारायन इस लीग में एक पारी में पांच विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज बन गए हैं। नारायन इस सत्र में रविंद्र जडेजा और दमित्री मास्करेंहेंस के बाद पांच विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज हैं। नाइटराइडर्स ने अब तक पांच मैच खेले हैं जिनमें से उसे दो में जीत जबकि तीन मुकाबले में हार मिली है। चार अंकों के साथ नाइटराइडर्स अंक तालिका में चौथे स्थान पर बना हुआ है। वहीं पंजाब ने अब तक चार मुकाबले खेले हैं जिनमें से उसे दो में जीत जबकि इतने मैच में हार हुई है। चार अंक लेकर किंग्स इलेवन तालिका में सातवें स्थान पर है। जवाब में कोलकाता ने सधी हुई शुरुआत करने की कोशिश की लेकिन दूसरे ओवर की अंतिम गेंद पर जैक्स कालिस [1] पारस डोगरा के शानदार प्रयास से कैच आउट हो गए। भार्गव भट के इस ओवर में गंभीर ने लगातार दो चौके जमाए लेकिन कोलकाता ने कालिस का विकेट खो दिया। गंभीर आज भी तेज बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन मैस्करहैंस ने काट एंड बोल्ड कर गंभीर को चलता किया। गंभीर ने 13 गेंदों में तीन चौके से 22 रन बनाए। इसके बाद मनविंदर बिसला और मनोज तिवारी ने पारी को आगे बढ़ाया। दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए हुई 43 रनों की साझेदारी के बाद भट ने तिवारी को पगबाधा कर टीम को वांछित सफलता दिलाई। इसके अगले ओवर में चावला ने बिसला को एक बेहतरीन गेंद पर बोल्ड कर दिया। चावला ने दो गेंद के बाद विस्फोटक बल्लेबाज यूसुफ पठान को खात खोले बगैर ही पवेलियन चलता किया। छह रन के अंदर तीन विकेट खोने से मेजबान टीम दबाव में आ गई। चावला ने एक और विकेट झटकते हुए शाकिब अल हसन [4] को काट एंड बोल्ड कर मैच में अपनी तीसरी सफलता हासिल की। हालांकि इसके बाद देवब्रत दास और रेयान टेन डचटेच [11] ने कुछ बड़े शाट लगाकर टीम को लक्ष्य के पास पहुंचाने का प्रयास किया और दोनों ने 4.5 ओवर में 40 रनों की साझेदारी कर मैच में रोमांच ला दिया। लेकिन अंतिम ओवर फेंक रहे हरमीत सिंह ने तीसरी गेंद पर डचटेच को बोल्ड कर अपनी टीम की उम्मीदों को जीवंत कर दिया। अंतिम गेंद पर जीत के लिए चार रन चाहिए थे लेकिन दास महज एक रन ही निकाल सके और टीम की लगातार तीसरी जीत पर पानी फिर गया। इससे पूर्व पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद पंजाब को तीसरे ओवर में जबर्दस्त झटका लगा जब सुनील नारायन ने कप्तान एडम गिलक्रिस्ट को मात्र पांच रन के निजी स्कोर पर कैच आउट करा दिया। गिलक्रिस्ट इस सत्र में अब तक बल्ले से पूरी तरह से फ्लाप रहे हैं। नारायन ने ही पंजाब को दूसरा झटका दिया जब अपने अगले ओवर में शान मार्श [1] को बोल्ड कर चलता किया। दूसरी तरफ पहली बार ओपनिंग करने उतरे मंदीप सिंह ने कुछ अच्छे शाट लगाए। मंदीप ने डेविड हसी के साथ 52 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी निभाई। इस बीच मंदीप शाकिब अल हसन की गेंद पर बड़ा शाट खेलने के प्रयास में रेयान टेन डचटेच को कैच थमा बैठे। मंदीप ने 34 गेंदों में तीन चौका व एक छक्का लगाया। डेविड हसी भी जल्द आउट हो गए। बल्लेबाज पारस डोगरा के साथ हुई गफलत के कारण डेविड हसी रन आउट हो गए। डेविड ने 31 गेंदों में 32 रन बनाए। लगातार विकेट गिरने से पंजाब का रन रेट काफी धीमा रहा और सौ रन 17वें ओवर में पूरे हुए। इसी ओवर में रजत भाटिया ने पारस डोगरा [6] और दमित्री मास्करेहेंस [0] को आउट कर पवेलियन की राह दिखा दी जिससे पंजाब के बड़ा स्कोर खड़ा करने की मंशा पर पानी फिर गया। नारायन की बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 18वें ओवर की अंतिम दो गेंदों पर बिपुल शर्मा [12] और प्रवीण कुमार [0] का बोल्ड कर जोरदार झटका दिया। हालांकि नारायन अंतिम ओवर में हैट्रिक लेने से चूक गए। हालांकि पंजाब ने अपने अंतिम पांच विकेट महज 29 रनों के अंदर गंवा दिए। नारायन के अलावा रजत भाटिया ने भी दो विकेट झटके।