18 February 2019



खेलकूद
शोन वान बने कोरिया के चैंपियन
30-04-2012

नई दिल्ली। कोरिया के गैरवरीय शोन वान हो ने उलटफेर करते हुए शीर्ष वरीय गत चैंपियन मलेशिया के ली चोंग वेई को हराकर इंडिया ओपन बैडमिंटन सुपर सीरीज का पुरुष सिंगल का खिताब जीत लिया। महिला सिंगल्स का खिताब चीन की शुएरुई ली ने जीता। दुनिया के 17वें नंबर के खिलाड़ी शोन वान ने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी ली चोंग को संघर्षपूर्ण मुकाबले में एक घंटा, छह मिनट में 21-18, 14-21, 21-19 से हराकर अपना पहला सुपर सीरीज खिताब जीता। इस जीत के साथ ही वान ने लंदन ओलंपिक के लिए भी क्वालीफाई कर लिया। ली चोंग के खिलाफ पांच मुकाबलों में शोन वान की यह पहली जीत है। दूसरी तरफ ऑल इंग्लैंड और एशियाई चैंपियन दूसरी वरीय शुएरुई ने तीन गेम तक चले कड़े मुकाबले में जर्मनी की छठी वरीय जूलियन शेंक को 47 मिनट में 14-21, 21-17, 21-8 से हराकर खिताब अपने नाम किया। जूलियन के खिलाफ चार मुकाबलों में शुएरुई की यह लगातार चौथी जीत है। मैच के बाद ली चोंग ने कहा कि हार के बावजूद वह अपने प्रदर्शन से खुश हैं। उन्होंने कहा कि मैं चोट के बाद वापसी कर रहा था इसलिए थोड़ा सतर्क था। मैं अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हूं। मैं अच्छा खेला। शोन वान काफी अच्छा खेला। उसने कई उलटफेर करते हुए फाइनल में जगह बनाई थी, इसलिए वह इस मैच के लिए बेहतर स्थिति में था। मैंने अहम लम्हों पर अपनी गलती से भी अंक गंवाए। चोट को लेकर हालांकि कोई समस्या नहीं थी और मैंने अपने खेल का लुत्फ उठाया। वहीं, शोन वान ने अपनी जीत का श्रेय नेट पर बेहतर नियंत्रण को दिया। उन्होंने कहा कि मैंने नेट पर बेहतर नियंत्रण दिखाया। मेरे पास गंवाने के लिए कुछ नहीं था, इसलिए मुझ पर कोई दबाव नहीं था। यह मेरा अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। मैंने पहली बार ली चोंग को हराया है और इससे आत्मविश्वास बढ़ेगा। दूसरी तरफ, महिला सिंगल्स में पिछले दो दौर में चीन की खिलाड़ियों को बाहर का रास्ता दिखाने वाली दुनिया की आठवें नंबर की खिलाड़ी जूलियन इस बार भी शुएरुई की चुनौती से पार नहीं पा सकीं। जर्मनी की 29 वर्षीय खिलाड़ी ने बेहतरीन शुरुआत की, लेकिन अंत में 21 वर्षीय शुएरुई के दमखम के आगे मात खा गईं। जूलियन ने मैच के बाद कहा कि मैं भले ही फाइनल में हार गई, लेकिन कुल मिलाकर यह हफ्ता मेरे लिए काफी अच्छा रहा। शुएरुई के खिलाफ यह मेरी लगातार चौथी हार है, लेकिन यह पहला मौका है जब मैं उसके खिलाफ एक गेम जीतने में सफल रही। कोरिया की झोली में पुरुष सिंगल्स के अलावा महिला डबल्स का खिताब भी आया। खिताबी मुकाबले में क्युंग युन जुंग और हा ना किम की जोड़ी ने सीधे गेमों में चीन की यिशिन बाओ और कियानशिन झोंग की जोड़ी को 50 मिनट में 21-17, 21-18 से हराया। मिक्स्ड डबल्स में इंडोनेशियाई जोड़ी ने खिताब अपने नाम किया। तोंतोवी अहमद और लियाना नातसिर की दूसरी वरीय जोड़ी ने विषम परिस्थितियों से उबरते हुए सुदकेत परापाकामोल और सराली थोंगथोंगकाम की थाईलैंड की पांचवीं वरीय जोड़ी को कड़े मुकाबले में 21-16, 12-21, 21-14 से हराया। पुरुष डबल्स में थाईलैंड ने बाजी मारी। बोडिन इसारा और मनीपोंग जोंगजीत की गैरवरीय जोड़ी ने उलटफेर करते हुए स्युंग हुन को और युओन सियोंग यू की कोरिया की दूसरी वरीय जोड़ी को 53 मिनट तक चले मुकाबले में तीन गेम में 21-17, 14-21, 21-14 से हराया।