19 February 2019



खेलकूद
इंडिया-श्रीलंका के बीच Happy Valen-TIE
14-02-2012
एडिलेड. भारत और श्रीलंका के बीच एडिलेड ओवल मैदान पर खेला गया वनडे मुकाबला टाई रहा है। दोनों टीमों के बीच यह पहला टाई मैच है। श्रीलंका द्वारा बनाए 236 रन के जवाब में भारतीय बल्लेबाजों ने निर्धारित 50 ओवरों में 236 रन बनाए। कप्तान धोनी को उनकी नाबाद 58 रन की पारी के लिए मैन ऑफ द मैच अवार्ड दिया गया।
 
अंपायर की गलती से हुआ मैच टाई
 
भारतीय पारी के 30वें ओवर में अंपायर की गलती के कारण सिर्फ 5 ही गेंद हो सकी। इस कारण टीम इंडिया ने 49.5 ओवरों की ही बल्लेबाजी की।
 
अंतिम ओवर का रोमांच
 
श्रीलंका द्वारा दिए 237 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को अंतिम ओवर में 9 रनों की दरकार थी। श्रीलंकाई कप्तान महेला जयवर्धने ने मोर्चे पर मलिंगा को लगाया। मलिंगा ने अपने कमाल से पहली पांच गेंदें तो बचा ली। लेकिन कप्तान धोनी के हौसले के आगे वो पस्त हो गए। भारत को अंतिम गेंद पर 4 रनों की दरकार थी। मलिंगा ने अंतिम गेंद वाइड डाली जिसका फायदा धोनी ने उठाया और तीन रन ले लिए।
 
कप्तान धोनी की बेहतरीन पारी
 
धोनी ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 58 रन बनाए। धोनी की इसी पारी के बूते भारत यह मैच टाई करवा सका। यदि धोनी जल्दी आउट हो जाते तो भारतीय टीम हार भी सकती थी। धोनी ने अपनी इस पारी में 3 चौके व 1 छक्का लगाया। 
शतक से चूके गंभीर
 
गौतम गंभीर ने बेहतरीन बल्लेबाजी प्रदर्शन करते हुए सीरीज में लगातार दूसरा अर्धशतक जमाया। लेकिन वो इस बार भी दुर्भाग्यशाली रहे। गंभीर 91 रन के योग पर रन आउट हो गए। पिछले मैच में भी वो अंपायर के गलत निर्णय का शिकार होकर शतक से चूके थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में ही 92 रन की पारी खेली थी। 
 
परेरा ने दिया दूसरा झटका
 
भारत का दूसरा विकेट विराट कोहली के रूप में गिरा। कोहली 15 रन बनाकर परेरा की गेंद पर आउट हुए।
 
 
15 रन बनाकर आउट हुए सचिन
 
भारत को पहला झटका छठे ओवर की अंतिम गेंद पर लगा। नुवान कुलसेखरा ने सचिन तेंडुलकर की कीमती विकेट झटककर इंडिया को बैकफुट पर कर दिया। सचिन 15 रन बनाकर विकेट के पीछे कुमार संगकारा द्वारा लपके गए।
 
 
श्रीलंका ने बनाए 9 विकेट पर 236 रन
 
दिनेश चांडीमल के बेहतरीन अर्धशतक और कप्तान महेला जयवर्धने की उपयोगी पारी के दम पर श्रीलंका ने भारत के सामने 237 रन की चुनौती रखी है। भारतीय गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए श्रीलंका को निर्धारित 50 ओवरों में 236 रन के स्कोर तक सीमित रखा।
 
चांडीमल ने सर्वाधिक 81 रन की पारी खेली। भारत के लिए विनय कुमार ने 46 रन देकर 3 विकेट झटके। आर अश्विन को 2 व इरफान पठान को 1 विकेट मिला।
 
दूसरी ही गेंद पर गिरा विकेट
 
भारत को पहली सफलता मैच की दूसरी गेंद पर मिली। तेज गेंदबाज विनय कुमार ने सलामी बल्लेबाज उपुल थरंगा को खाता खोलने का मौका दिए बगैर विकेट के पीछे लपकवा दिया।
 
चांडीमल का बेहतरीन अर्धशतक
 
दिनेश चांडीमल ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 81 रन की पारी खेली। इस पारी में चांडीमल ने 6 चौके व 1 छक्का लगाया। इसी पारी की बदौलत श्रीलंका 236 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच सका।
 
विनय कुमार ने गेंद से मचाया तहलका
 
दाएं हाथ के तेज गेंदबाज विनय कुमार ने स्विंग गेंदबाजी का बेहतरीन प्रदर्शन किया। विनय ने अपने पहले ही ओवर में थरंगा को आउट किया। इसके बाद उन्होंने कप्तान महेला जयवर्धने (43 रन) और नुवान कुलसेखरा (12 रन) के अहम विकेट भी लिए। विनय ने महज 46 रन देकर 3 सफलताएं हासिल की।
 
इरफान का औसत प्रदर्शन
 
लंबे समय के बाद टीम में वापसी कर रहे इरफान पठान ने औसत प्रदर्शन किया। इरफान ने अपनी स्विंग गेंदबाजी से सबको प्रभावित तो किया, लेकिन वो विकेट चटकाने में नाकामयाब रहे। इरफान ने अपनी 9 ओवरों की गेंदबाजी में महज 1 विकेट लिया। इरफान ने सलामी बल्लेबाज दिलशान को आउट किया।
 
पॉवर प्ले में छाए इंडियंस
 
टीम इंडिया ने पॉवर प्ले में बेहतरीन खेल दिखाया। बल्लेबाजी टीम द्वारा 36वें ओवर में लिए अंतिम पॉवर प्ले में भारतीय गेंदबाजों ने 3 विकेट झटके। इन पांच ओवरों में कुल 18 ही रन बन सके। इससे पहले दूसरे पॉवरप्ले में इंडियन गेंदबाजों ने 1 विकेट लेते हुए महज 16 रन खर्च किए। 
 
टॉस - श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया।
 
टीम में बदलाव -भारतीय एकादश में दो बदलाव किए गए हैं। वीरेंद्र सहवाग के स्थान पर सचिन तेंडुलकर को शामिल किया गया है। वहीं तेज गेंदबाज जहीर खान को आराम देते हुए इरफान पठान को मौका दिया गया है।
 
टीमें इस प्रकार से रहीं-
 
भारत - सचिन तेंडुलकर, गौतम गंभीर, विराट कोहली, सुरेश रैना, रोहित शर्मा, महेंद्र सिंह धोनी, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, विनय कुमार, उमेश यादव और इरफान पठान।
 
श्रीलंका - दिलशान, उपुल थरंगा, कुमार संगकारा, दिनेश चांडीमल, महेला जयवर्धने, एंजलो मैथ्यूज, थिसारा परेरा, नुवान कुलसेखरा, रंगना हेराथ, लासिथ मलिंगा और सेनानाएके।